0 Comments

“जिनमे अकेले चलने के हुनर होते है।  अंत में उनके पीछे काफिले होते है


0 Comments

“परिंदो को मंज़िल मिलेगी यक़ीनन यु फैले हुए उनके पर बोलते है।  अक्सर  खामोश रहते है वो लोग ज़माने में जिनके हुनर बोलते है”


0 Comments

दुनिया की हर चीज ठोकर लगने से टूट जाती है,एक कामयाबी ही है जो ठोकर लगने से मिलती है


0 Comments

ज़िन्दगी से यही सीखा है मेहनत करो रुकना नहीं हालत कैसे भी हो किसी के सामने झुकना नहीं


0 Comments

कुछ पाने के लिए कुछ करना पड़ता है


0 Comments

” तेरे दिल के बाजार में मै रोज़ बिकता हु।  कुछ लफ्ज़ तेरी यादों के हर रोज़ लिखता हु। “


0 Comments

” तेरे दिल के बाजार में मै रोज़ बिकता हु।  कुछ लफ्ज़ तेरी यादों के हर रोज़ लिखता हु। “


0 Comments

लाखों ठोकरों के बाद भी संभालता रहूँगा , गिर कर फिर से उठूंगा और चलता रहूँगा।