0 Comments

तू मिले या न मिले ये तो मुक़द्दर की बात है मगर सुकून बहुत मिलता है तुझे अपना सोच कर


0 Comments

प्यार आज भी तुझसे उतना ही है बस तुझे एहसास नहीं और हमने भी जताना छोड़ दिया


0 Comments

तुम मेरी वो किताब हो , जिसका हर लफ्ज़ मुझे ज़बानी याद है


0 Comments

रहा नहीं जाता आपके दीदार के बिना ज़िन्दगी अधूरी है मेरी आपके प्यार क बिना


0 Comments

किसी को भी नहीं चाहा मेने एक तुझे चाहने के बाद


0 Comments

ज़िन्दगी के हर मोड़ पर तुम साथ रहना , चाहे दूर रहो पर हमेशा दिल के पास रहना


0 Comments

खुद ही पागल करते हो फिर कहते हो पागल हो तुम


0 Comments

किसी को भी नहीं चाहा मेने एक तुझे चाहने के बाद


0 Comments

ज़िन्दगी के हर मोड़ पर तुम साथ रहना , चाहे दूर रहो पर हमेशा दिल के पास रहना


0 Comments

कितना प्यार करते है तुमसे ये कहा नहीं जाता, बस इतना जानते है बिना तुम्हारे रहा नहीं जाता