0 Comments

मोहब्बत मैं करने लगा हूँ, उलझनों में जीने लगा हूँ, दीवाना तो था नहीं मैं लेकिन, तेरा दीवाना होनें लगा हूँ


0 Comments

लोग चाह कर भी नहीं पड़ना चाहते हमारी मोहब्बत में, कहते हैं तुम दिल में नहीं रूह में समा जाते हो


0 Comments

इन लम्हों की यादें ज़रा संभाल के रखना, हम याद तो आएँगे मगर लौट के नहीं


0 Comments

दिल से इज़हार हो, एक दूसरे के हम यार हों, चल चले इश्क की वादियों में और फिर बस प्यार और प्यार हो


0 Comments

 रखना सोचकर हमारी सल्तनत में कदम,हमारी मोहब्बत की क़ैद में जमानत नहीं होती


0 Comments

यूँ आज ऐतबार करें,चल आज फिर इकरार करें,डूब के एक दूजे के इश्क में,बेपनाह हम दोनों प्यार करें


0 Comments

मेरे सामने कर दिए मेरी तस्वीर के टुकड़े–टुकड़े,पता चला मेरे पीछे वो उन्हें जोड़कर बहुत रोए


0 Comments

मेरे सामने कर दिए मेरी तस्वीर के टुकड़े–टुकड़े,पता चला मेरे पीछे वो उन्हें जोड़कर बहुत रोए


0 Comments

आप ही अपनी जफ़ाओं पे ज़रा ग़ौर करें, हम अगर अर्ज़ करेंगे तो शिकायत होगी


0 Comments

किस्मत बुरी या मैं बुरा यही फैसला ना हो सका,मैं हर किसी का हो गया बस कोई मेरा ना हो सका