0 Comments

कोई नहीं था कभी इतने करीब मेरे, इश्क में रंगी बस एक मेरी रूह थी वहाँ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *