0 Comments

तुम को चाहने की वजह कुछ भी नहीं, इश्क की फितरत है बे–वजह होना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *