0 Comments

जवाब तो हर बात का दिया जा सकता है , मगर जो रिश्तो की अहमियत ना समझ पाया वह शब्दों को क्या समझेगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *