0 Comments

“परिंदो को मंज़िल मिलेगी यक़ीनन यु फैले हुए उनके पर बोलते है।  अक्सर  खामोश रहते है वो लोग ज़माने में जिनके हुनर बोलते है”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *